कोरोना के खिलाफ जंग: वार रूम स्थापित, 5 क्वारंटाइन वार्ड तैयार, 11 हॉस्टल अधिग्रहित

कोरोना के खिलाफ जंग: वार रूम स्थापित, 5 क्वारंटाइन वार्ड तैयार, 11 हॉस्टल अधिग्रहित

  2020-03-25 09:11 pm

भीलवाड़ा (हलचल)। कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण को रोकने के लिए अब जिला प्रशासन ने युद्ध स्तर की तैयारियां की हैं। इसके तहत जिला कलेक्ट्रेट में कमरा नंबर 3 को वार रूम बनाया गया है। 
जिला कलेक्टर राजेन्द्र भट्ट ने एडीएम (सिटी) नरेन्द्र जैन को वार रूम का ओवरऑल प्रभारी नियुक्त किया है। वार रूम 24 घंटे कार्यरत रहेगा और 8-8 घंटे की तीन पारियों में अधिकारी व  कर्मचारी ड्यूटी देंगे। वार रूम का दूरभाष नंबर 01482-232607 है। इसके अलावा एक रिजर्व टीम भी गठित की गई है जो सुबह 9.30 से शाम 6 बजे तक कार्य करेगी। उल्लेखनीय है कि जिला कलेक्ट्रेट में कंट्रोल रूम पहले से ही कार्यरत है, यह भी 24 घंटे काम कर रहा है। इसके दूरभाष नंबर 01482233030 तथा 232626 है। इसके अलावा सीएमएचओ कार्यालय में भी नियंत्रण कक्ष कार्य कर रहा है। इसके दूरभाष नंबर 01482232643 है। शहर में सामुदायिक भवन, रमा विहार में 30 बेड, पटेल नगर  व सांगानेर के सामुदायिक भवन में 25-25 बेड, पॉलोटेक्निक महाविद्यालय में 100 बेड तथा सुभाषनगर के लायंस क्लब हॉस्पिटल में 15 बेड के क्वारंटाइन सेंटर स्थापित किए गए हैं।
जिला कलेक्टर राजेन्द्र भट्ट ने बुधवार को आदेश जारी कर शहर के राजकीय एवं निजी संस्थाओं के 11 हॉस्टलों को उपलब्ध समस्त संसाधनों/सुविधाओं सहित तत्काल प्रभाव से अधिग्रहित कर सीएमएचओ के सुपुर्द किया है। इनमें माणिक्यलाल वर्मा राजकीय महाविद्यालय, महाराणा कुम्भा हॉस्टल, मयूर हॉस्टल, नोबल इंटरनेशनल स्कूल, जी स्कूल, संगम स्कूल ऑफ एक्सीलेंस, महिला आश्रम स्कूल, मीणा हॉस्टल, धाकड़ हॉस्टल, महेश छात्रावास तथा अग्रवाल मांगलिक भवन शामिल हैं।
सभी क्वारंटाइन सेंटर के लिए प्रशासनिक अधिकारियों को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी को इनका ऑलओवर तथा सहायक कलेक्टर राजेश सुवालका को सहायक इंचार्ज बनाया गया है।
जिला कलेक्टर राजेन्द्र भट्ट ने कहा कि जिले में नागरिकों को खाद्यान्न सहित किसी भी प्रकार की असुविधा नहीं होने दी जाएगी। पूरे जिले का डोर-टू-डोर सर्वे करवाया गया है। 24 घंटे सैंपल लिए जा रहे हैं। पूरे जिले में सोडियम हाइपो क्लोराइड का छिड़काव करवाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि खाद्यान्न सहित फलों का वितरण उपभोक्ता भंडार के माध्यम से करवाया जा रहा है। इसके लिए शिक्षा विभाग द्वारा कार्मिकों की नियुक्ति की गई है। वाहनों को अनुमति दी गई है। आवश्यक सेवाओं में मेडिकल तथा पेट्रोल पंप खुले रखे गए हैं। जिले में स्थित आटा मिलों को चालू करवाया गया है। जिला परिवहन अधिकारी द्वारा अतिआवश्यक निजी वाहनों को अनुमति प्रदान की जा रही है। जिला कलेक्टर ने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए नागरिकों से अपना सहयोग प्रदान करने तथा घरों में रहने की अपील की है।

news news news news news news news news