कोरोना वायरस संक्रमण से कोई पंजीकृत निर्माण श्रमिक भूखमरी से ना गुजरें- श्रम आयुक्त

  2020-03-25 12:40 pm

चित्तौडग़ढ़ (हलचल)। कोरोना वायरस (कोविड -19) के संक्रमण से उत्पन्न स्थिति के मद्देनजर श्रम आयुक्त राजस्थान प्रतीक झांझडिय़ा ने पंजीकृत श्रमिकों के कार्य पर नहीं होने से भूखमरी की स्थिति होने पर भोजन सहायता हेतु सभी जिला श्रम अधिकारियों को आदेशित किया कि प्रत्येक जिले में एक लाख रुपए तथा संभाग मुख्यालय पर दो लाख रुपये एवं मंडल मुख्यालय पर पांच लाख रुपए का बजट स्वीकृत किया गया है। 
श्रम आयुक्त ने बताया कि मंडल में पंजीकृत निर्माण श्रमिक कोरोना वायरस से संक्रमित होने के कारण संबंधित जिला अथवा अन्य प्राधिकारियों द्वारा आइसोलेशन में रखा जाता है तो राज्य सरकार द्वारा निर्धारित मजदूरी की दर से ही उक्तानुसार अधीनस्थ कार्यालयों को दी गई राशि से उनके आइसोलेशन अवधि की मजदूरी का पुनर्भरण किया जाए। यदि संबंधित क्षेत्र में लॉकडाउन होने की स्थिति में पंजीकृत निर्माण श्रमिक कार्य पर नहीं जाने के कारण भूखमरी की स्थिति का सामना करता है तो उक्त राशि से यथासंभव उसके भोजन की व्यवस्था कराई जाए।
श्रम आयुक्त राजस्थान के आदेश पर जिले के उप श्रम आयुक्त करण सिंह यादव ने बताया कि उक्त आदेशों की पालना प्राथमिकता से की जायेगी।

news news news news news news news news