चित्त समाधि शिविर का आयोजन

चित्त समाधि शिविर का आयोजन

  2020-02-19 07:06 pm

राजसमंद (राव दिलीप सिंह)। जिले में तेरापंथ सभा भवन आमेट में शासन मुनि सुरेश कुमार हरनावा व मुनि संबोध कुमार के सानिध्य में चित समाधि शिविर का आयोजन किया गया। चित समाधि शिविर में तेरापंथ सभा अध्यक्ष अरविंद भरसारिया द्वारा सभी आगंतुकों का स्वागत एवं अभिनंदन किया गया। शिविर में सौ श्रावक श्राविकाए ने भाग लिया। इस अवसर पर मुनि सुरेश कुमार ने प्रवचन में कहा कि ढलती उम्र में चित्त में समाधि कैसी बनी रहे इसके लिए स्वयं को हीन ना मानो ना ही अहंकार करो। उम्र जब बुढ़ापे के बराबर होती है तो शुरु से पहले ही मनुष्य अपने मन को रोगी बना लेता है। बचपन और वृद्धावस्था एक जैसी होती है जहां पर खान-पान में सादा जीवन उच्च विचार को अपनाकर अपने को स्वस्थ रख सकते है। शिविर प्रशिक्षण के दौरान मुनि ने कहा कि दिमाग को ठंडा ,पेट को नरम,पैर को गर्म रखें तो ही आ समाधि में बैठ सकते हैं ।इस अवसर पर मुनि संबोध कुमार ने चित समाधि द्वारा अपने जीवन को कैसे स्वस्थ बनाएं इस पर प्रकाश डाला। विशेष आमंत्रित श्राविका श्रीमती शांता जैन ने चित्र समाधि के 5 सूत्र बताते हुए कहा कि शरीर अवस्था को भोगता है चेतना का उस पर प्रभाव नहीं होना चाहिए। असमाधि और कुछ नहीं सिर्फ मन की भटकन है। इस अवसर पर अध्यक्ष हरविंदर भरसारिया, मंत्री कौशल मेहता, पारसमल पामेचा, रोशनलाल कोठारी, दलितचंद कच्छारा, महिला मंडल की उमा हिरण, आशा डूंगरवाल, बंसीलाल दुग्गड़, नरेंद्र श्रीश्रीमाल, रोशनलाल कोठारी, भंवरलाल डांगी, बंसीलाल दुग्गड़ उपस्थित थे।

news news news news news news news news