boltBREAKING NEWS

फायरिंग केस में ताजा अपडेट, मुंबई पुलिस के हाथ लगा बड़ा सबूत

फायरिंग केस में ताजा अपडेट, मुंबई पुलिस के हाथ लगा बड़ा सबूत

बॉलीवुड एक्टर सलमान खान  के बांद्रा स्थित घर के बाहर हुए फायरिंग मामले में बड़ा अपडेट सामने आया है। मुंबई पुलिस के हाथ एक बड़ा सबूत लगा है। क्राइम ब्रांच से मिली जानकारी के मुताबिक, जिस बंदूक से एक्टर के घर के बाहर फायरिंग की गई थी, उसे पुलिस ने सूरत की तापी नदी से बरामद किया है। बंदूक के अलावा पुलिस को नदी से कुछ जिंदा कारतूस भी हाथ लगे हैं। क्राइम ब्रांच का कहना है कि जिस बंदूक और जिंदा कारतूस को उन्होंने तापी नदी से बरामद किया है, उसका इस्तेमाल सलमान खान के घर के बाहर फायरिंग में किया गया था।


क्राइम ब्रांच को तापी नदी से दूसरी बंदूक मिली

सर्च ऑपरेशन के जरिए क्राइम ब्रांच को दूसरी बंदूक मिल गई है। मुंबई क्राइम ब्रांच को लॉरेंस बिश्नोई गैंग के शूटर्स की दोनों बंदूक सूरत की नदी में मिली हैं। पुलिस नदी में आरोपियों के फोन की तलाश कर रही थी। खबर है कि फोन के जरिए कई बार आरोपियों के बैंक में पैसे ट्रांसफर हुए हैं। मुंबई क्राइम ब्रांच जल्द इस मामले में MCOCA लगाने वाली है।

 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मुंबई पुलिस बंदूक का पता लगाने के लिए फायरिंग करने वाले एक आरोपी विक्की गुप्ता को गुजरात की तापी नदी के पास लेकर पहुंची थी। इसके बाद पुलिस ने नदी से बंदूक बरामद की है। अब जब सबूत मिल चुका है तो पुलिस इस मामले में आरोपियों पर अन्य धाराओं को जोड़ सकती है।

 शूटर्स के पास थी दो बंदूक

क्राइम ब्रांच के मुताबिक, जब आरोपी सलमान खान के घर के बाहर फायरिंग करने पहुंचे थे, तो उनके पास दो बंदूक थीं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, फायरिंग करने वाले दोनों आरोपी विक्की गुप्ता और सागर पाल ने पूछताछ में बताया कि वो सलमान खान के घर के बाहर फायरिंग करने के बाद मुंबई से सड़क के रास्ते सूरत पहुंचे थे। वहां से दोनों ट्रेन से भुज पहुंचे थे। यात्रा के दौरान ही दोनों ने बंदूक को रेलवे पुल से तापी नदी में फेंक दिया था।


 10 से ज्यादा लोगों के ले चुकी बयान

ANI की रिपोर्ट के मुताबिक, क्राइम ब्रांच ने बताया है कि सलमान खान के घर के बाहर फायरिंग मामले में उन्होंने अब तक 10 से ज्यादा लोगों से पूछताछ करने के बाद बयान दर्ज किया है। अभी कई लोगों के बयान दर्ज किए जाना बाकी है। बता दें कि शनिवार को मुंबई क्राइम ब्रांच ने गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई और उसके छोटे भाई अनमोल बिश्नोई को इस मामले में आरोपी बनाया था। पुलिस का कहना था कि वो लॉरेंस को हिरासत में लेने की मांग कर सकती है। बता दें कि लॉरेंस फिलहाल गुजरात की एक जेल में बंद है।